Welcome to egujaratitimes.com!

अब 'ग्रीन कार्ड' पाना हो जाएगा मुश्किल, अमेरिका बदलेगा नियम
14:59 03/06/2019
अमेरिकी राष्ट्रपति देश की आव्रजन नीति (नागरिकता लेने के नियम) में परिवर्तन लाने की तैयारी में है. इसके लिए योग्यता आधारित आव्रजन प्रणाली का प्रस्ताव जल्द पेश करेंगे. नए नियम लागू होने पर अमेरिका में सिर्फ कुशल पेशवरो को ही नागरिकता पाने के लिए ग्रीन कार्ड मिलेगा.
मौजूदा आव्रजन व्यवस्था के अमेरिका में पारिवारिक संबंधों को तरजीह दी जाती है. राष्ट्रपति चाहते हैं कि अमेरिका में आने वाले अप्रवासी में नेल्सन मंडेला जैसी अद्भुत क्षमताएं होनी चाहिए. चिकित्सक ऐसा हो, जिसके पास कैंसर काइलाज हो तो वैज्ञानिक में मंगल ग्रह पर सबडिवीजन बनाने की क्षमता होनी चाहिए. जिससे योग्यता, उच्च डिग्री धारक व पेशेवेर योग्यता रखने वाले लोगों के लिए आव्रजन प्रणाली को सुगम बनाया जा सके. मौजूदा व्यवस्था के तहत करीब 66 फीसद ग्रीन कार्ड उन लोगों को दिया जाता है जिनके पारिवारिक संबंध हों व सिर्फ 12 फीसद ही योग्यता पर आधारित है.
ट्रंप मेरिट आधारित वीजा के जरिये उच्च-कुशल लोगों को ही अमेरिका में कार्य करने की अनुमति देने की तैयारी में हैं. ट्रंप प्रशासन यह सुनिश्चित करना चाहता था कि जो भी देश में आना चाहते हैं, उनकी राष्ट्रीयता, धर्म, रंग आदि छोड़कर उनकी कुशलता को देखा जाएं. इसका उद्देश्य अमेरिका को कुशल पेशवेर देकर अर्थव्यवस्था को मजबूत करना है.
यूएससीआईएस द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, अप्रैल- 2018 तक 306,601 भारतीय ग्रीन कार्ड पाने की कतार में थे. इनमें अधिकतर आईटी पेशेवर थे. हिंदुस्तान के अतिरिक्त 67,031 चीनी नागरिक ग्रीन कार्ड पाने का इंतजार कर रहे हैं. हालांकि किसी भी अन्य देश के ग्रीन कार्ड का इंतजार कर रहे लोगों की संख्या 10,000 से अधिक नहीं है.


=====
Click for more news:
Page-1, Page-2, Page-3, Page-4, Page-5,
Page-6, Page-7, Page-8, Page-9, Page-10,

 

ALPAVIRAM

ALPAVIRAM

FREE PRESS Gujarat

LOKMITRA

LOKMITRA

Contact us on