Welcome to egujaratitimes.com!

द्वारका में चतुर्थ पंचगव्य चिकित्सा महासम्मेलन 19 से 21 नवम्बर को

अहमदाबाद: विदित हो कि 19 नवम्बर से 21 नवम्बर तक गुजरात के देव भूमि द्वारिका नगरी में चतुर्थ पंचगव्य चिकित्सा महासम्मेलन का आयोजन पंचगव्य डॉक्टर एसोसिएशन और पंचगव्य गुरूकुलम, कांचीपुरम ने किया हैं।
पंचगव्य गुरूकुलम की स्थापना 2012 में राजीव भाई दिक्षित के योजना अनुरूप किया गया। यह भारतीय पौराणिक तकनीकी ज्ञान को समर्पित गुरूकुलिये विश्व विद्यालय हैं। जहां गोमाता को फिर से मां का सम्मान दिलाने / उन्हें स्वालम्बी बनाने के लिए पंचगव्य चिकित्सा विज्ञान एक सम्पूर्ण चिकित्सा पद्धति के रूप में पढाई जाती हैं।
अभी तक यहां से 1200 पंचगव्य चिकित्सा के डोक्टर जिन्हें गव्यसिद्ध कहा जाता हैं। तैयार हुए हैं। उनमें से ज्यादातर राष्ट्र की सेवा में लग चुके हैं। यहां प्रति वर्ष लगभग 500 गव्यसिद्धार तैयार होते हैं। इस साल भी 430 गव्यसिद्धारों का दीक्षांत है। इस कार्यक्रम में दीक्षांत के लिए सूर्ययोगी उमाशँकर जी (जिन्होंने भूख, प्यास और नींद पर विजयी प्राप्त किया हैं) आ रहे हैं। वे 1000 दीपक, जिसमें भारत के 23 प्रदेशों की 70 प्रजातियों की गोमाता का घी होगा। 1000 गव्यसिद्ध के साथ सूर्य की आराधना करेंगे।


 

Gujarat's First Hindi Daily ALPAVIRAM's
Epaper

             
   

1

2

3

4

5

6

7

8

9

10

11

12

13

14

15

16

17

18

19

20

21

22

23

24

25

26

27

28

29

30

31

Gujarat's Popular English Daily
FREE PRESS Gujarat's
Epaper

             
   

1

2

3

4

5

6

7

8

9

10

11

12

13

14

15

16

17

18

19

20

21

22

23

24

25

26

27

28

29

30

31

Gujarat's widely circulated Gujarati Daily LOKMITRA's
Epaper

             
   

1

2

3

4

5

6

7

8

9

10

11

12

13

14

15

16

17

18

19

20

21

22

23

24

25

26

27

28

29

30

31

         

 

Contact us on

Archives
01, 02