Welcome to egujaratitimes.com!

पॉलेन्ड की डब्ल्यूएसजीई यूनिवर्सिटी द्वारा गुजरात के विद्यार्थियों के लिए आकर्षक अभ्यासक्रम

अहमदाबाद। पिछले कुछ वर्षों से अब्रोड एज्युकेशन के लिए स्टुडेन्स में यूएसए, आस्ट्रेलिया और कनाडा इत्यादि देशों की प्रति रूझान रहा है लेकिन इन सभी देशों में पढ़ाई का खर्च काफी अधिक होने से यह सामान्य व्यक्ति की पहुंच से बाहर हो गए है और एडमिशन प्राप्त करने और पीआर (कायमी स्थायी) होने में उत्तरोत्तर दिक्कत होती है। ऐसी स्थिति में पिछले दो वर्ष से पॉलेन्ड हायर एज्युकेशन के लिए लुभा रहा है।
हाल ही में पॉलेन्ड की द यूनिवर्सिटी ऑफ युरोरिज्योन्लस इकोनोमी (डब्ल्यूएसजीई यूनि.) की ओर से उनकी इन्डिया ऑफिस के साथ एक सेमिनार का आयोजन अहमदाबाद मैनेजमेन्ट एसोसिएशन (एएमए) में किया गया। इसमें डब्ल्यूएसजीई में डायरेक्टर ऑफ इन्टरनेशन ऑफिसर मिस. मार्ता और वाइस चान्सलर मिस. वार्ता और इन्डियन ऑफिस मि. चिंतन मोदी ने पॉलेन्ड स्टडी के बारे में काफी विस्तार के विदेश में पढ़ने को इच्छुक विद्यार्थियों को जानकारी दी।
उनके अनुसार पिछले दो वर्ष में भारी संख्या में विद्यार्थियों की ओर प्रवेश लिया जा रहा है और इन सभी विद्यार्थियों की सफलता पूर्वक अपना अभ्यास पूरा कर रहे है। इसके अलावा मिस. मार्ता ने बताया कि, डब्ल्यूएसजीई यूनि. पास आईटी, इंजीनियरिंग, बिजनेस मैनेजमेन्ट होस्पिटालिटी एंड हेल्थ केयर मैनेजमेन्ट के तीन वर्ष के बेचलर्स और दो वर्ष के मास्टर्स प्रोग्रा काफी लोकप्रिय है। उन्होंने यह भी बताया कि, अन्य देशों की तुलना में पढ़ाई की फीस मात्र 3000 यूरो होती है। आपके पहले वर्ष की पढ़ाई रु. 3.50 लाख में स्टडी, एकोमोडेशन और जीवन निर्वाह के खर्च के साथ आसानी से पूरी की जा सकती है। इसके साथ पॉलेन्ड देश के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि यूरोपियन यूनियन में विस्तार की दृष्टि से बड़ा देश है और 2004 में यूरोपियन के साथ जुड़ने के बाद वर्षों वर्ष यूरोपियन यूनियन में सबसे अधिक आर्थिक विकास करने वाले देशों में पॉलेन्ड उत्तरोतर विकसित हो रहा है। वर्ष 2014-15 में 460,000 से अधिक विदेशी विद्यार्थियों ने पॉलेन्ड को उच्च अभ्यास के लिए पसंद किया और यह संख्या उत्तरोत्तर बढ़ती जा रही है।
गोल्डन फ्यूचर की ओर से चिंतन मोदी ने बताया कि, मध्यमवर्ग के साथ किफायती ट्युशन तथा पढ़ाई के साथ साप्ताहिक 20 घंटे के वर्क राइट्स के साथ स्टुडेन्ट काफी आसानी से अपना खर्च निकाल सकता है। पढ़ाई के एक वर्ष के जोब सर्च वीजा स्टुडन्ट प्राप्त कर सकता है और जोब मिलने के बाद वह तीन वर्ष में टीआरसी और टेम्पररी रेसीडेन्स कार्ड के लिए एलिजिबल हो जाता है और पीआर (कायमी स्थायी) होने का उज्जवल मौका भी रहता है और पढ़ाई के दौरान जर्मनी, स्पेन, फ्रांस जैसी यूरोपियन कंट्री में जा सकता है।
 

Gujarat's First Hindi Daily ALPAVIRAM's
Epaper (PDF)

             
   

1

2

3

4

5

6

7

8

9

10

11

12

13

14

15

16

17

18

19

20

21

22

23

24

25

26

27

28

29

30

31

Gujarat's First Hindi Daily ALPAVIRAM's
Epaper (JPG)

             
   

1

2

3

4

5

6

7

8

9

10

11

12

13

14

15

16

17

18

19

20

21

22

23

24

25

26

27

28

29

30

31

Gujarat's Popular English Daily
FREE PRESS Gujarat's
Epaper (PDF)

             
   

1

2

3

4

5

6

7

8

9

10

11

12

13

14

15

16

17

18

19

20

21

22

23

24

25

26

27

28

29

30

31

Gujarat's widely circulated Gujarati Daily LOKMITRA's
Epaper (PDF)

             
   

1

2

3

4

5

6

7

8

9

10

11

12

13

14

15

16

17

18

19

20

21

22

23

24

25

26

27

28

29

30

31

         

Gujarat's widely circulated Gujarati Daily LOKMITRA's
Epaper (JPG)

             
   

1

2

3

4

5

6

7

8

9

10

11

12

13

14

15

16

17

18

19

20

21

22

23

24

25

26

27

28

29

30

31

         

 

Contact us on

Archives
01, 02