Welcome to egujaratitimes.com!

राज्य का प्लास्टिक उद्योग 20 प्रतिशत वृद्धिकर रू. 90,000 करोड का होने सज्ज

अहमदाबाद: प्लास्टिक उद्योग देश के आर्थिक तंत्र, विकास और विविध मुख्य क्षेत्र की वृद्धि में उल्लेखनीय प्रदान करता हैं। इस क्षेत्र में ऑटोमोटिव, कृषि, इलेक्ट्रोनिक्स, निर्माण, हेल्थकेयर, टेक्सटाइल्स, एफएमसीजी इत्यादि शामिल हैं। जो भारत में सर्वाधिक गति से बढ़नेवाले उद्योग में शामिल हैं। प्लास्टिक उद्योग भारत सरकार की मेक इन इंडिया, स्कील इंडिया, डिजिटल इंडिया, स्वच्छ भारत अभियान आदि की सफलता में बड़े पैमाने पर प्रदान करते हैं। जिसने विविध अवसरों का सर्जन किया हैं और वृद्धि को काफी गति दी हैं।
गुजरात में प्लास्टिक उद्योग का चित्र देखें तो गुजरात संपूर्ण प्लास्टिक उद्योग में बड़ा प्रदान करता हैं जबकि वैश्विक स्तर पर भारत पोलीमर का तीसरा सबसे बड़ा उपयोगकर्ता देश हैं और चीन दूसरा सबसे बड़ा उपयोगकर्ता देश हैं। जबकि अमेरिका हर साल 25 मिलियन टन पोलीमर के उपयोग के साथ अग्र क्रम पर स्थान रखता हैं। प्लास्टइंडिया 2018 के औपचारिक लॉन्च में प्लास्ट इंडिया फाउण्डेश्र के प्रसिडेन्ट के.के. सेकसरिया ने कहा कि भारत में हर साल अनुमानित तौर पर प्रति व्यक्ति करीबन 10 किलोग्राम की खपत हैं और विश्व में प्लास्टिक की औसतन प्रति व्यक्ति सालाना खपत 25 किलोग्राम से अधिक हैं। स्मार्ट सिटिज, तेज शहरीकरण, रिटेल और ई-कोमर्स माध्यम से पैकेज उत्पादन की बिक्री में वृद्धि, किफायती प्रतिव्यक्ती खपत, उपभोक्ता की जीवनशैली में परिवर्तन , युवाओं की बड़ी तदाद, मध्यम आमदनी वाले जनसमूह की बहुमति, प्लास्टीक की ऊंचा प्रतिशत वाला कई उत्पादन सेगमेन्ट्स आदि प्लास्टिक उद्योग की वृद्धि में प्रदान करते हैं। भारतीय प्लास्टिक उद्योग देश एवं नागरिकों की सेवा करने का प्रमाण और गुणवत्ता की चुनौती स्वीकारने तथा देश को ऊंची वृद्धि तरफ ले जाने सज्ज हैं।


 

Gujarat's First Hindi Daily ALPAVIRAM's
Epaper

             
   

1

2

3

4

5

6

7

8

9

10

11

12

13

14

15

16

17

18

19

20

21

22

23

24

25

26

27

28

29

30

31

Gujarat's Popular English Daily
FREE PRESS Gujarat's
Epaper

             
   

1

2

3

4

5

6

7

8

9

10

11

12

13

14

15

16

17

18

19

20

21

22

23

24

25

26

27

28

29

30

31

Gujarat's widely circulated Gujarati Daily LOKMITRA's
Epaper

             
   

1

2

3

4

5

6

7

8

9

10

11

12

13

14

15

16

17

18

19

20

21

22

23

24

25

26

27

28

29

30

31

         

 

Contact us on

Archives
01, 02