Welcome to egujaratitimes.com!

शहर के कोट विस्तार में तकरीबन 2500 जितने हेरीटेज मकान

अहमदाबाद: युनेस्को की हाईपावर्ड कमेटी के आगमन को दो महीने ही बाकी हैं, यह टीम शहर को वर्ल्ड हेरीटेज सिटी के तौर पर घोषित करने योग्य है कि नहीं। यह देखा जा रहा हैं ऐसे में अब राज्य सरकार नींद से अचानक जागी हो ऐसा प्रतित हो रहा हैं तथा अचानक ही कोट विस्तार के करीब 2500 मकान हेरीटेज मकान के तौर पर घोषित किये हैं।
29 जून के सरकारी गैजेट में हेरिटेज कन्वर्जन कमेटी ने तैयार की रिपोर्ट के आधार पर करीब 2500 हेरीटेज मकान की सूची जारी की गई होने की जानकारी मिला हैं। आज से लगभग दो ढाई साल पहले शहर में स्थित हेरीटेज मकानों की सूची तैयार करने के लिए कमेटी का गठन किया गया। फरवरी 2013 में जब अहमदाबाद का विकास प्लान घोषित किया गया कि तुरंत ही कमेटी का गठन हो जाने का जानने मिला हैं। हेरीटेज कन्वर्जन कमेटी ने शहर के घुम-घुमकर लगभग 2247 मकान-हवेली की सूची तैयार कर सरकार को सुर्पुद की। सूची में दर्शाये गये मकान में से 99 मकान ऐसे है कि वास्तविक रूप से हेरीटेज की कैटेगरी में रखे जा सकते हैं। 552 मकान ग्रेड 2 तथा 1596 बिल्डिंग केटेगरी ग्रेड 3 में आते हैं।
हेरीटेज मकानों के रखरखाव तथा डिजाइन के लिए कोई गाईडलाइन नहीं है महानगरनिगम के एक उच्चाधिकारी के बताये अनुसार हेरीटेज कन्वर्जेशन कमेटी इसके लिए रेग्युलेशन गठन की गाईडलाइन तैयार कर रही हैं। नये नियम के अनुसार कोई भी मालिक अपने हेरीटेज मकान की की मरम्मत अथवा रिनोवेशन कार्य के लिए म्युनिसिपल कार्पोरेशन के हेरीटेज सेल का अप्रोच करना होगा और नियुक्त किये गये आर्किटेक्ट के सलाह- निर्देश प्राप्त करना होगा। जिसके कारण अब तक शहर के कोट विस्तार में स्थित हेरीटेज मकान की जैसे तैसे मरम्मत कर दी जाती अथवा रिनोवेट होते थे। इसके कारण हेरीटेज मकान का गौरव संभल नहीं पाता था।

 

Gujarat's First Hindi Daily ALPAVIRAM's
Epaper

             
   

1

2

3

4

5

6

7

8

9

10

11

12

13

14

15

16

17

18

19

20

21

22

23

24

25

26

27

28

29

30

31

Gujarat's Popular English Daily
FREE PRESS Gujarat's
Epaper

             
   

1

2

3

4

5

6

7

8

9

10

11

12

13

14

15

16

17

18

19

20

21

22

23

24

25

26

27

28

29

30

31

Gujarat's widely circulated Gujarati Daily LOKMITRA's
Epaper

             
   

1

2

3

4

5

6

7

8

9

10

11

12

13

14

15

16

17

18

19

20

21

22

23

24

25

26

27

28

29

30

31

         

 

Contact us on

Archives
01, 02